Browse By

Daily Archives: September 3, 2016

No Thumbnail

अवश्य जानें क्या है हरतालिका पूजन करने का सही समय,जिससे प्राप्त होगा आपको पूजा का संपूर्ण फल

हरतालिका पूजन प्रदोष काल में किया जाता हैं। प्रदोष काल अर्थात् दिन-रात के मिलने का समय। संध्या के समय स्नान करके शुद्ध व उज्ज्वल वस्त्र धारण करें। तत्पश्चात पार्वती तथा शिव की मिट्टी की प्रतिमा बनाकर विधि-विधान से पूजा करें। बालू रेत अथवा काली मिट्टी

02f_shrichakrapuja

अचानक धन लाभ हेतु करें यह प्रामाणिक व चमत्कारिक प्रयोग

शुक्ल पक्ष के किसी शुक्रवार को रात 12 बजे के बाद नहाकर व साफ वस्त्र पहनकर घर के किसी एकांत स्थान पर एक बाजोट रखें। इसके ऊपर लाल कपड़ा बिछाएं और पीले फूल का एक आसन बनाएं। इसके ऊपर श्री चक्र स्थापित करने के पश्चात विधि-विधान

63

प्रत्येक बुधवार को इस दिव्य वस्तु के प्रयोग द्वारा आप बनेंगे मालामाल और दरिद्रता होगी दूर

जो व्यक्ति प्रत्येक बुधवार को 108 कमलगट्टे  के बीज लेकर घी के साथ एक-एक करके अग्नि में 108 आहुतियां देता है।वह व्यक्ति शीघ्र ही मालामाल हो जाता है और उसके घर से दरिद्रता हमेशा के लिए चली जाती है तथा उसका घर धन धन्य से हमेशा भरा