Browse By

Monthly Archives: December 2016

swastik-rangoli-1461246048

यदि आप अपने दुर्भाग्य से पीछा छुड़ाना चाहते है तो करें यह दिव्य उपाय

यदि आप अपने दुर्भाग्य से पीछा छुड़ाना चाहते है तो बरगद के पत्ते को गुरु पुष्य या रवि पुष्य योग में लाकर उस पर हल्दी से स्वास्तिक  बनाकर घर में रखें।ये उपाय करने के पश्चात आप के सभी कार्य आसानी से बनने लगेंगे तथा सभी बाधाएं

10-unexpected-side-effects-of-camphor1

यदि आपकी कुंडली में शनि या राहु केतु ग्रह अशुभ फल दे रहे है तो शनिवार के दिन करें यह अत्यंत सरल उपाय और देखे चमत्कार

पानी में कर्पूर के तेल की कुछ बूंदों को डालकर नहाना चाहिए । यह आपको तरोताजा रखने के साथ -साथ  आपके भाग्य को भी चमकाएगा। यदि इस में कुछ बूंदें चमेली के तेल की भी डाल दी जाएँ तो इससे राहु, केतु और शनि का दोष  दूर हो

4-1

रात्रि में रसोई में हुई अगर यह असावधानी तो घर में बढ़ेगा कलेश कर्ज और वैचारिक मतभेद

रात को रसोई में जूठे बर्तन बिलकुल न रखें। जूठे बर्तन रखे होने से कर्जा बढ़ता है। घर में कलेश, वैचारिक मतभेद बना  रहता है। अपने घर से कलेश, वैचारिक मतभेद दूर करने  तथा कर्जे से मुक्ति पाने के लिये अपने जूठे बर्तन स्वयं ही उठाकर रसोई में रखें क्योकि आपके जूठे बर्तन उठाने वाला आपकी श्रीं व यश

238

यदि दुर्भाग्य आपका पीछा नहीं छोड़ रहा है तो शुक्रवार के दिन करे यह अत्यंत प्रभावी उपाय और पाए हर क्षेत्र में सफलता

यदि दुर्भाग्य आपका पीछा नहीं छोड़ रहा है तो शुक्रवार के दिन  गुड़ व चना किसी फकीर या संन्यासी को दे  दें तो दुर्भाग्य दूर चला जाता है। तथा सौभाग्य की प्राप्ति होती है।इसके अतिरिक्त अपने ऊपर से एक रोटी को 31 बार उतार कर चौराहे

feng-shui-bamboo-flutes

लाख प्रयासो के बाद भी अगर नहीं मिल पा रहा रोजगार तो करें बांसुरी के द्वारा यह चमत्कारी प्रयोग

यदि आपके अथक प्रयासों के बाद भी आपकी आजीविका से सम्बंधित मनोकामना नहीं पूरी हो पा रही है तो शुक्लपक्ष के शनिवार को एक बांसुरी में चीनी भरकर किसी एकांत स्थान में दबा दीजिये इससे आपकी आजीविका पूर्ति की मनोकामना शीघ्र ही पूरी हो जायेगी।  

banana-tree-flower

गुरूवार के दिन इस पौधे की जड़ द्वारा करें यह दिव्य उपाय तो बनेंगे धनागमन के योग

शुक्ल पक्ष के बुधवार की शाम को किसी केले के पौधे  पर जल चढ़ाएं। हल्दी से तिलक करें और गुरु बृहस्पति का ध्यान कर पौधे से गुरूवार के  दिन थोड़ी सी जड़ ले जाने की आज्ञा मांगें। दूसरे दिन सूर्य निकलने पर स्नान कर केले