Browse By

No Thumbnail

नौकरी की प्राप्ति के लिए करे गणपति जी के इस अद्वितीय मंत्र का प्रयोग

बुधवार के दिन से या शुक्ल पक्ष की चतुर्थी से प्रारम्भ करके भगवान गणपति  की प्रतिमा का पंचोपचार  पूजन करके मूंगे या लाल चन्दन की माला  से ११ माला प्रतिदिन के क्रम से जपें यह मंत्र –  गं  गणपतये  नमः  चतुर्थी और बुधवार के दिन भगवान के

No Thumbnail

घर में लक्ष्मी तथा सुख -समृद्धि की वृद्धि एवं स्थाईत्व हेतु विश्वसनीय उपाय

घर में पैसा रखने वाली अलमारी का मुंह सदैव उत्तर दिशा  की तरफ़ रखना चाहिए   ऐसा करने से घर में लक्ष्मी दिन प्रतिदिन बढ़ती रहती  है तथा सुख -समृद्धि बनी रहती है।

No Thumbnail

संतान -प्राप्ति के लिए सरल उपाय

  पूर्वा फाल्गुनी नक्षत्र में बरगद के पेड़ की जड़ का एक टुकड़ा ले आयें। फिर उस टुकड़े को किसी कपड़े में         लपेटकर स्त्री अपनी भुजा में बाँध लें। इस प्रयोग से बाँझ स्त्री के भी संतान  उत्पन्न होती  है ऐसा माना  जाता है। 

No Thumbnail

बिच्छू के विष को दूर करने का सरलतम उपाय

नीम के पत्ते और कड़वा तेल-इन दोनों को मिलाकर खूब अच्छी तरह उबालें। फिर आग से उतारकर इसकी भाप से बिच्छू द्वारा काटे गए स्थान को   सेंकने  से बिच्छू का विष उतर जाता है।    

No Thumbnail

संतान प्राप्ति हेतु पलाश के पेड़ के एक पत्ते से करें अचूक व सरल प्रयोग

स्त्री अपने मासिक – धर्म के दिनों में पलाश के पेड़ का एक पत्ता लेकर उसे बछड़े वाली गाय के दूध में पीसकर पी जाये। फिर मासिक धर्म समाप्त होने के बाद स्नान करके उसी रात सम्भोग करे तो इससे गर्भ ठहरकर ,संतान की प्राप्ति अवश्य होगी । 

No Thumbnail

व्यापार में उन्नति हेतु अचूक उपाय

अनेक प्रयास करने पर भी व्यापार में यदि उन्नति न   हो पा  रही हो तो श्यामा तुलसी के चारों  ओर उग आई कहर पतवार को किसी पीले कपड़े में बाँध कर व्यापार स्थल पर रख दें। यह क्रिया गुरूवार को ही करें।

No Thumbnail

सिर दर्द की समस्या से मुक्ति प्राप्ति हेतु अत्यधिक सरल एवं सटीक उपाय

शनिवार एवं मंगलवार को हनुमान जी के पैरों पर लगे सिन्दूर का तिलक लगाते रहने से सिर  दर्द की समस्या से मुक्ति प्राप्त हो जाती है।

No Thumbnail

उत्तम शिक्षा एवं परीक्षा में उत्तीर्ण होने के लिए अकाट्य उपाय

सरस्वती यन्त्र का शुद्ध जल से अभिषेक करके गंध,पुष्प,धूप,दीप से पूजन करके शुक्ल पक्ष में बृहस्पति अथवा पंचमी,दशमी या पूर्णिमा को अपने घर में प्रातःकाल  स्थापित करें तथा 41 दिन तक निम्न मंत्र का  नित्य एक माला  जप करें : मंत्र-